बरकरार रह सकता है चिकनगुनिया का असर

0 commentsViews:

kk-aggarwal

बुखार खत्म होने के बाद भी
जोड़ों में कई दिनों तक दर्द
बरकरार रहता है। यदि बुखार
लंबे समय तक रहा तो दर्द
एक साल से भी अधिक समय
तक बरकरार रह सकता है।

बढ़ेगी। इस बीमारी में तेज बुखार के
साथ घुटने, कलाई, अंगुलियों की जोड़ों
आदि में असहनीय पीड़ा होती है। इसके
अलावा शरीर पर लाल दाने निकल
आते हैं।
बुखार खत्म होने के बाद भी जोड़ों
में कई दिनों तक दर्द बरकरार रहता
है। यदि बुखार लंबे समय तक रहा तो
दर्द एक साल से भी अधिक समय तक
बरकरार रह सकता है। कई अध्ययनों
में यह साबित हो चुका है कि अधिक
समय तक घुटने में दर्द रहने से मरीजों
को चलने में दिक्कत होने लगती है।
क्योंकि चिकनगुनिया का वायरस जोड़ों
की हड्डियों को नुकसान पहुंचाता है।
इस वजह से कई लोग बाद में गठिया
से पीडि़त हो सकते हैं। इंडियन मेडिकल
एसोसिएशन के महासचिव डॉ. केके
अग्रवाल ने कहा कि चिकनगुनिया से
पीडि़त 10 फीसद मरीजों के जोड़ों में
एक साल तक दर्द रहता है। इससे
मरीजों को परेशानी हो सकती है।

 


Facebook Comments