INSIDE STORY: सुबह CRPF ने खदेड़ा था, 4 घंटे बाद ही नक्सलियों ने किया बड़ा हमला

0 commentsViews:

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में मंगलवार दोपहर बड़ा नक्सली हमला हुआ. नक्सलियों ने सीआरपीएफ के वाहन को निशाना बनाया, जिसमें 9 जवान शहीद हो गए. 25 सीआरपीएफ जवान घायल भी हुए हैं, जिन्हें इलाज के लिए रायपुर भेजा गया है. दरअसल, ये नक्सलियों का सीआरपीएफ जवानों के ऊपर जवाबी हमला था.

मंगलवार सुबह करीब 8 बजे नक्सलियों और सीआरपीएफ की 208 बटालियन के कोबरा कमांडोज़ के बीच मुठभेड़ हुई थी. कोबरा कमांडोज़ ने नक्सलियों पर जवाबी गोलीबारी की तो नक्सली भाग गए.

लेकिन दोपहर करीब 12.30 बजे नक्सलियों का झुंड वापस आया और सीआरपीएफ की दूसरी टीम को निशाना बनाया. दोपहर को नक्सलियों ने सीआरपीएफ की 212 बटालियन पर किस्टाराम इलाके में हमला किया. नक्सलियों ने सीआरपीएफ की माइन प्रोटेक्शन व्हीकल को IED ब्लास्ट कर उड़ा दिया.

दरअसल, तेलंगाना बॉर्डर पर नक्सलियों के कुछ बड़े कमांडर मारे गए थे. जिसके बाद नक्सलियों ने ये हमला किया है. जिसके बाद कोबरा कमांडोज़ ने नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाया. लेकिन दोपहर को करीब 100 से 150 नक्सलियों ने सीआरपीएफ के वाहन पर हमला कर दिया.

पहले ही मिला था खुफिया अलर्ट

आजतक के पास मौजूद खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक फरवरी और मार्च के महीने में नक्सली सुरक्षा बलों पर बड़े हमले कर सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक नक्सली TCOC यानि टैक्टिकल काउंटर ऑफेंसिव कैंपेन के दौरान कर हमले सकते हैं. नक्सलियों ने इसके लिए बीजापुर के जंगलों में एक बड़ी मीटिंग की थी और इस मीटिंग में नक्सली कमांडर हिडमा और पुलारी प्रसाद के साथ 200 नक्सली शामिल थे.

आपको बता दें कि सुकमा का इलाका नक्सलियों के निशाने पर रहता है. पिछले साल भी सुकमा इलाके में ही सबसे बड़ा नक्सली हमला हुआ था. इसमें करीब 25 जवान शहीद हुए थे. ये हमला 24 अप्रैल, 2017 को सुबह के समय ही किया गया था.


Facebook Comments