IPL: पहले सीजन में 10 साल का था ये क्रिकेटर, आज है पर्पल कैप होल्डर

0 commentsViews:

मुंबई इंडियंस के उभरते सितारे मयंक मार्कण्डेय ने बीते मैच में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ शानदार गेंदबाजी की. विपक्षी टीम के खिलाफ मुंबई इंडियंस भले ही मैच हार गई, लेकिन अपनी फिरकी की बदौलत मयंक ने छोटे लक्ष्य को बचाने की पूरी कोशिश की और मैच में 23 रन देकर 4 विकेट हासिल किए.

तीन महीने पहले मुंबई इंडियंस ने IPL की नीलामी में मयंक को उनके बेस प्राइस 20 लाख में खरीदा था. लेकिन आज मयंक इस टूर्नामेंट के पर्पल कैप होल्डर हैं यानी वह अब तक सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं. खास बात यह है कि 2008 में जब IPL का पहला सीजन शुरू हुआ था तब मयंक की उम्र सिर्फ 10 साल थी.

गुगली में फंसे एम एस धोनी

मुंबई इंडियन ने अब तक टूर्नामेंट में सिर्फ 2 मैच खेले हैं लेकिन 20 साल का यह युवा टीम के लिए 7 विकेट हासिल कर चुका है. अपनी घूमती गेंदों की वजह से हर ओर मयंक की चर्चा है. इस सीजन में मयंक सबसे पहले चर्चा में तब आए जब उन्होंने IPL के ओपनिंग मैच में गुगली डालकर चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान एम धोनी का विकेट झटका था. चेन्नई के खिलाफ मैच में मयंक ने 23 रन देकर 3 विकेट झटके थे.

गुरुवार को खेले गए मुकाबले में भी मयंक ने अपनी टीम के लिए छोटे स्कोर को बचाने की पूरी कोशिश की. मैच में उन्होंने ऋद्धिमान साहा, शिखर धवन, मनीष पांडे और शाकिब अल हसन के विकेट झटके. मैच के बाद हैदराबाद के बल्लेबाज शिखर धवन ने भी मयंक की तारीफ करते हुए कहा कि मयंक अच्छी गेंदबाजी कर रहा है, आगे के मुकाबले में हमें इस पर नजर रखनी होगी. वहीं मयंक ने भी अपनी सफलता का श्रेय कप्तान रोहित शर्मा को दिया.

टीम इंडिया में मिलेगा मौका?

मयंक का यही प्रदर्शन जारी रहा तो आने वाले वक्त में वो भारत के लिए भी खेल सकते हैं क्योंकि भारतीय खेमे को हमेशा से बढ़िया स्पिनर की तलाश रही है. मौजूदा वक्त में चहल और कुलदीप यादव जैसे युवा स्पिनर्स ने भारत के लिए खेलते हुए विश्व पटल पर अपनी छाप छोड़ी है और यह दोनों खिलाड़ी भी IPL की ही खोज हैं.

बता दें कि पंजाब के भटिंडा के मयंक मार्कंडेय पहली बार IPL में खेल रहे हैं. टूर्नामेंट में खेलने से पहले मार्कंडेय विजय हजारे ट्रॉफी और सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट खेल चुके हैं.


Facebook Comments