बेकसूर हो या कसूर वार पुलिस करेगी अतियाचार !

0 commentsViews:

(फरहान खान) भोपाल- कल रात बसस्टेण्ड हनुमान गंज थाना किसी लड़के को किसी ग्रप दुवारा मार गया लड़के को मामूली सी चोट आयी लड़के के पक्ष के तक़रीबन 100 लोग उतरे गुंडा गर्दी पर बससटेण्ड पे चाय पिने आये लोगो पे कर रहे हमला जो मिलरह उसे पकड़ रहे थे पुलिस ने मामला संभाला जिन लोगों को वो मर रहे थे उन्हें अपनी गाढ़ी में बिठाया और थाने ले गए 4 लड़को को थाने में रखा जिन में से 3 आरोपी 1 बेकसूर si से बेकसूर लड़का जिस का नाम यामीन अली है उसका कहा के ये तो था नही si ने कहा यह save ह 1 घंटे से छोर देगे यामीन अली जो के अपनी माँ क साथ इब्राहिमपूरा छेतर में रहता है न तो कोई सहारा ह न खानदान न उसका बाप उसी माँ रोति रही मगर नही मिला इंसाफ रात 4 बजे si भूपेंद्र जी से उसे घर ले जाने का कहा तो उनका जवाब मामला दर्ज हो चूका है हम माफ़ी चाहते है वो लोग यहा क लोकल लोग है उनसे कहा के ये तो था नही जब साथ बंद लड़के कहे रहे है ये लड़का नही था हम लोग नही जानते इसे ये बेकसूर है उसके बाद भी केस ठोका उसपे ऐसी धराये लगायी के ज़मानत भी कोट से होगी इतने ग़रीब घर का लड़का जो एक छोटे से कमरे में रहता ह उसी माँ क पास ज़मानत तक के पैसे कर पाना मुश्किम है और si से ये सब बात हुयी तो कहने लगे गेहू के साथ घुन पिस्ता है।मिसाल अच्छी दी मगर जब पुलिस ने उसे save रखने क लिए साथ रखा और कहा 1 घंटे ले जाना फिर क्यों उस पे भी मुकदमा दर्ज हुआ जब साथ बंद आरोपियों ने कहे दिया ये बच्चा बेकसूर है फिर क्यों पुलिस धुवार उसे भी बाली का बकरा बनाया गया ।यहा हम लोग पुलिस की अछि छबि बनाने में लगे है क जनता क भरोसा और बढे के पुलिस हमारी सेवा क लिए है वही कुछ लोग अपनी ऐसी करतूतो से बाज़ नही आरहे जो सब को एक ही नज़र से देखते है वो दोषी हो या नही ।इंसाफ तो मिला नही मगर बेकसूर जब थाने या जेल जाते है तो वो ही cirminl बनते है हम समाज में क्राइम खत्म करने का प्रियस कर रहे है वे इस तरीके की वारदात नये क्राइम करने वालो को पैदा करती है।हनुमान गज थाने पे इंसाफ नही उनलोगो को थाने के करीब बस रहे लोग नज़र आते ह जिनसे उनका बोल चल है गेहू के साथ घुन तो पिस्ता है मगर मिसाल देके घुन न पिसे जनता भरोसा करना छोर देगी। भोपाल पुलिस जय हो।


Facebook Comments