NRC: असम में CRPF की 220 कंपनियां तैनात, 14 जिलों में धारा 144

नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (एनआरसी) की दूसरी लिस्ट आज जारी होने वाली है, इस लिस्ट से असम के लोग खासे प्रभावित होने वाले हैं. मामले की नजाकत को देखते हुए वहां सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी गई है और किसी भी तरह अप्रिय घटना को टालने की कोशिश की जा रही है.

असम में बांग्लादेश से नागरिक आते रहे हैं. मौजूदा प्रक्रिया साल 2005 में कांग्रेस शासन के दौरान शुरू हुई थी और बीजेपी के सत्ता में आने के बाद इसमें तेजी आई. इस पूरी प्रक्रिया पर नजर रख रहे सुप्रीम कोर्ट का आदेश था कि 31 दिसंबर तक एनआरसी का पहला मसौदा प्रकाशित किया जाए.

बड़े अपडेट्स

-एनआरसी पर लेकर लोगों में डर के माहौल को देखते हुए पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, राज्य में कानून-व्यवस्था को बनाए रखने के लिए समूचे राज्य में सुरक्षा बढ़ाई गई. इसके लिए हर जिले के जिला उपायुक्तों और पुलिस अधीक्षकों को कड़ी सतर्कता बरतने को कहा गया है.

-असम के बारपेटा, दरांग, दीमा, हसाओ, सोनितपुर, करीमगंज, गोलाघाट और धुबरी समेत कुल 14 जिलों में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगाई गई है. असम में 33 जिले आते हैं.