अब न होगी नेताओ की रार..

0 commentsViews:
0
अब न होगी नेताओ की रार…
फिर गरीब होगा बेकार ..
फूटेगी किस्मत जनता की अब नेताजी ना आएगा
चाय ना कोई पिलाएगा ना रोठी तुम्हारी खायेगा
 अब कुछ दिन के बस और मेहमान फिर लन्दन,पेरिश घूमने जायेगा..
जो खर्च किया लुट लुट के वो पैसा सारा उघायेगा …
अब नया करंट तुम्हे लगाएगा
भर भर झोली कमायेगा
 पर तेरे घर कोई नेता नया ना कोई आएगा…
अब तू अरदास  करेगा…..नित नया प्रयास करेगा
दर दर तू बस एक बात कहेगा चुनावो के वादो को याद करेगा…
पर सुनने की कोशिस नही करेगा
फिर थक के बस एक बात कहेगा …
फिर ये इलेक्शन कब आएगा..
नेता कब आएगा
मुझे सपने कब दिखायेगा
(Rajesh Gehlot)

Facebook Comments