आखिर कब तक ?

893044_437445553017196_1265443194_o
परिवार -समाज – कानून और सरकार किसे कोसे …… ??
जब एक इंसान किसी लड़की का बलात्कार करता है तो उसी लड़की से बलात्कारी की शादी करावा दी जाती है ….
वही बलात्कारी अपनी साली के साथ बलात्कार और हत्या के केस में फसा पाया जाता है ….
वही बलात्कारी अपनी चचेरी बहन के साथ बलात्कार करने की कोशिश करता है ….
इन हालातो में वो बलात्कारी अपना शहर छोड़ देश की राजधानी में कैसे जाता है ?
अगर समय पर सही सज़ा मिली होती तो आज ये दिन आता ……..

कब तक ?

कब तक हम कागज़ काला करते रहेंगे ….
आखिर कब तक देश दहलता रहेगा ….
कब तक वे गाल बजाते रहेंगे …..
कौन जबाब देगा ….
कौन बताएगा …
पाँच साल की बच्ची क्या पोशाक पहनी थी कि वो हवश की शिकार हुई
किस बॉय फ्रेंड के साथ देर रात को अय्यासी कर रही थी
कौन सा अंग आकर्षित किया कि उसके प्राइवेट पार्ट में 200ml का बोतल
और एक मोमबत्ती डालने की ललक पैदा हुई …..
???????????
बहुत मांग चुकी कड़ी-से कड़ी सज़ा
फांसी की सज़ा
अब तो एक ही मांग
बदला ऐसा जो रूह कापे
काट डालो प्राइवेट पार्ट क्यूँ कि उसने ऐसा ही कुकर्म किया
फोड़ डालो दोनों आँखें
आंखो की ही खता थी
काट डालो दोनों हांथ उसी से पकड़ा होगा
छोड़ दो ,छोड़ दो बिलबिलाने के लिए सड़कों पर
उसके शरीर में कीड़े पड़े ……..

एड़ियाँ रगड़-रगड़ मौत मागें …….
अहसास तो हो ………