बहार रोमांस की – प्रा.डावरे रोहिणी बालचंद

नाम – प्रा.डावरे रोहिणी बालचंद

जिला-अहमदनगर(महाराष्ट्र)

🌹बहार रोमांस की🌹
~प्रा.रोहिणी डावरे।
–*–*–*–*–*–*–*–*

इजहार ए मुहब्बत का अवसर बेहतरीन
चौदह फरवरी की दुनिया रंगीन
संत रोम के व्हॅलेंटाईन
‘प्रेम ही जीवन’ सीख हसीन।1।

राजा क्लाॅडियस था दिल से पत्थर
जीवन जीता भावशून्य होकर
सैनिक,अधिकिरियों पर जुल्म था भारी
कामनाओं का दमन था जारी।2।

चौदह फरवरी का दिन था काला
फाँसी का फंदा व्हॅलैंटाईन को डाला
निस्वार्थ प्रेम का पहने जो मोति
जेकोबस को दीं आँखों की ज्योति।3।

रूह में खुशबू,तन में स्पंदन
दिल में धडकन,पुलकित है मन
बिन शब्दों के हो एहसास
सारा सच हर दिल के पास।4।

जो होता है दिल का गहरा
बाँधे वह रोमांस का सेहरा
लाख बिठा ले दुनिया पहरा
खिलता और ही दिलवालों का चेहरा।।5।।

रोमांस है जैसा गुरूत्वाकर्षण
दो प्रेमियों का है सम्मोहन
मिट जाए उदासी और अकेलापन
सप्तरंगों से रंगीन जीवन।6।

निगाह से जब मिली निगाह
करें नां कोई दुनिया की परवाह
होता नहीं और इंतजार
इशारों में ही दिल का इजहार।7।

निराशा के जब बादल चलें
अवसाद,उब जीवन में पले
दो प्रेमी जब मिलते गले
अमर प्रेम की ज्योति जले।8।

रोमांस है बहार की गली
चलनेवाले की खिलती कली
जीने की चाह जिससे मिली
सारा सच है राह भली।9।

गुलाबी आँखें,होंठ नशीले
मधुर-मीठी बोली बोले
मनमंदिर का ताला खोले
मधुकलश से तू भर ले प्याले।10।
————————————-

🙏🏻सहृदय धन्यवाद!!🙏🏻