बुलंदशहर गैंगरेप को साजिश कहने पर आजम खान को सुप्रीम कोर्ट की पफटकार

supreme_court_of_india_

नई दिल्ली।  बुलंदरशहर गैंगरेप
को राजनीतिक साजिश कहने वाले
यूपी की सपा सरकार के मंत्री आजम
खान को सुप्रीम कोर्ट से कड़ी फटकार
मिली। पीडि़ता द्वारा दायर याचिका
पर सुनवाई करते हुए ैब् ने यूपी सरकार
को नोटिस जारी किया। याचिकाकर्ता
ने इस मामले की सुनवाई दिल्ली में
कराने की मांग की थी।
सुप्रीम कोर्ट ने सबसे पहले आजम
खान के बयान पर तल्ख टिप्पणी
की। कोर्ट ने कहा कि आजम का इस
तरह कहना कि बलात्कार के पीछे
राजनीतिक साजिश है, ये अभिव्यक्ति
की आजादी है या संविधान के सिद्धांतों
का पतन।
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आजम
खान जैसे राजनीतिक नेताओं के इस
तरह के बयान से घटना की जांच
और पूरे सिस्टम से लोगों का विश्वास
उठता है। गौरतलब हो कि आजम
खान ने एक विवादास्पद बयान देते

हुए इस  गैंगरेप को विपक्ष की साजिश
बताया था। उन्होंने कहा था, ’हमलोगों
को इसकी जांच करने की जरूरत है
कि कहीं सरकार को बदनाम करने के
लिए यह विपक्ष की साजिश तो नहीं
है। वोट के लिए लोग किसी भी स्तर
पर जा सकते हैं।’
बुलंदशहर में मां-बेटी के साथ
हुए सामूहिक बलात्कार का मामला
सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। गैंगरेप की
शिकार नाबालिग ने अदालत से अपील
की थी कि केस की जांच और सुनवाई
को दिल्ली स्थांतरित कर दिया जाए।
पीडि़ता ने यह भी मांग की थी कि जांच
अदालत की निगरानी में कराई जाए।
पीडि़ता ने अपना दाखिला दिल्ली के
स्कूल में कराने और सुरक्षा दिए जाने
की भी अपील की है। इसके अलावा
उसने अपने परिवार का पुनर्वास कराए
जाने की भी बात कोर्ट के सामने रखी
है। पीडि़ता ने अदालत से आजम खान
और दोषी पुलिस अधिकारियों के
खिलाफ थ्प्त् दर्ज कराने की भी मांग
रखी थी। मालूम हो कि आजम खान
के बयान के कारण ना केवल उन्हें
विपक्ष की आलोचना का शिकार होना
पड़ा, बल्कि अखिलेश सरकार की भी
काफी किरकिरी हुई। मुख्यमंत्री
अखिलेश यादव ने भी उनके इस बयान
का समर्थन नहीं किया।