सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करने पर लगेगा 20 हजार जुर्माना

images

नई दिल्ली। धूम्रपान रोकने के
लिए केन्द्र सरकार कड़ा कदम उठाने
जा रही है। सूत्रों की माने तो स्वास्थ
मंत्रालय सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान
करने वालों से 20 हजार रुपए जुर्माना
वसुलेगा। यह खबर एक अंग्रेजी
अखवार में प्रकाशित हुई है।
सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान को
अपराध की श्रेणी में लाया जा सकता
है और इसके लिए जुर्माने की राशि
200 से बढ़ाकर 20 हजार रुपये की
जा सकती है। हालांकि विशेषज्ञों
अनुसार खुली सिगरेट बेचने पर रोक
लगाने से उत्पादकों पर बड़ा असर
पड़ेगा। क्योंकि सिगरेट बिक्री का
एक बड़ा हिस्सा खुले में बिकने वाली
एक या दो स्टिक के रूप में आता है।
बिक्री में गिरावट होने पर सिगरेट

इंडस्ट्री की ओर से मिलने 25 हजार
करोड़ के टैक्स रेवेन्यू पर भी असर
पड़ेगा। ऐसे कदमों से मुश्किलें बढ़
सकती है। गौरतलब है कि दिल्ली
सरकार के पूर्व पिं्रसिपल सेव्रेटरी रमेश
चंद्रा की अगुवाई वाली कमिटी ने अपनी
रिपोर्ट पिछले सप्ताह ही स्वास्थ्य मंत्रालय
को सौंपी है। पैनल की सिफारिश है
कि सिगरेट के पैकेटों पर तस्वीरों
वाली चेतावनी ना छापने वाले उत्पादकों
पर जुर्माने की राशि 5000 से बढ़ाकर
50 हजार कर दी जाए। साथ ही कमिटी
ने तंबाकू सेवन की उम्र 18 से बढ़ाकर
25 करने, बिक्री केंद्रों पर विज्ञापन पर
प्रतिबंध लगाने, स्वास्थ्य से जुड़े चेतावनी
संकेतों का आकार बढ़ाकर पैकेजिंग
का लगभग 80 प्रतिशत करने जैसे
सुझ्ााव भी दिए हैं।