मूंगफली और चॉकलेट खाने से हड्डियां होती है मजबूत

Moogfali

उम्र बढ़ने के साथ-साथ
हड्डियां कमजोर होनी शुरू
हो जाती हैं। उम्रदराज
महिलाओं पर यह बीमारी
अधिक असर डालती है।
इसके चलते हल्की सी चोट
लगने पर हड्डी टूटने का
खतरा मंडराता रहता है।
इसके लिए डॉक्टर विटामिन
डी की गोलियां सहित अन्य
दवाएं देते हैं लेकिन लंबे
समय तक आवश्यकता से
अधिक इन दवाओं का सेवन
करने पर प्रतिकूल असर पड़ने की
आशंका रहती है। इसलिए विशेषज्ञ
लंबे समय से खानपान के जरिए इस
बीमारी पर अंकुश लगाने का प्रयास
कर रहे है। हाल ही में हुए एक शोध
के अनुसार 66 साल से अधिक उम्र के
बुजुर्गें में हड्डियां कमजोर होने की
बीमारी शुरू हो जाती है। इस उम्र में
आकर बुजुर्गें की हड्डियों में खनिज
तत्व का घनत्व आदि कम होना शुरू
हो जाता है। इसके चलते बुजुर्ग कई
बार साधारण चोट भी बर्दाश्त नहीं कर
पाते हैं और चोट से कई बार उनकी
हड्डी टूट जाती है। ऐसे में कमजोर
होती हड्डियों को दुरुस्त होने में कहीं
अधिक समय लगता है। डॉक्टर कमजोर
हड्डी से पीडि़त लोगों को विटामिन
डी व अन्य दवाइयां देते हैं। लेकिन
ऐसी दवाएं लंबे समय तक लेने पर
मोटापे, हाई ब्लड प्रेशर आदि का खतरा
बढ़ जाता है।
कुछ मामलों में ऐसी दवाएं अधिक
लेने वाले लोगों पर मधुमेह, हृदय की
बीमारियां आदि होने का खतरा भी
मंडराता है। डेनमार्क के शोधकर्ताओं
ने कमजोर हड्डियों को मजबूत बनाने
वाले खाद्य पदार्थों पर अध्ययन किया
है। उनके अनुसार मूंगफली, चॉकलेट,
’रेड वाइन‘ आदि में हड्डी मजबूत
करने वाला प्राकृतिक तत्व ’रिस्वराट्राल‘
होता है। विशेषज्ञों ने कई लोगों पर
इन खाद्य पदार्थें का परीक्षण किया है
और फिर उनकी डॉक्टरी जांच की है।
इनका सेवन करने से शरीर में हड्डी
बनाने वाली कोशिकाएं बननी शुरू हो
गई। साथ ही रीढ़ की हड्डी भी मजबूत
हुई। शोधकर्ताओं के दावे के अनुसार
मूंगफली, चॉकलेट और ’रेड वाइन‘
का सेवन करने से हड्डी को मजबूत
करने वाली दवाओं की तरह प्रतिकूल
असर नहीं आता है।