राहुल-सोनिया का बाढ़ प्रभावितों की मदद का वादा

download (1)

अनंतनाग। तबाही मचाने वाली बाढ़ के बाद पहली बार जम्मू-कश्मीर के
दौरे पर गईं कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज
यहां के लोगों के दुख कम करने में मदद का आश्वासन देते हुए कहा कि
उनकी पार्टी राज्य के लोगों के साथ है। यहां से 12 किलोमीटर की दूरी पर
देहरूणा गांव में बाढ़ से प्रभावित लोगों के समूह को संबोधित करते हुए राहुल
ने कहा में के लोगों के दुख कम करने में मदद का आश्वासन देते हुए कहा
कि उनकी पार्टी राज्य के लोगों के साथ है। यहां से 12 किलोमीटर की दूरी
पर देहरूणा गांव में बाढ़ से प्रभावित लोगों के समूह को संबोधित करते हुए
राहुल ने कहा, ‘‘कांग्रेस पार्टी आपके साथ है। हम सरकार के समक्ष आपके मुद्दे
उठाएंगे और हम हर संभव तरीके से मदद करेंगे।’’ उन्होंने कहा कि पार्टी लोगों
के दुख में उनके साथ है और घाटी में बाढ़ आने के बाद से वह उनकी मदद
कर रही है।
राहुल ने कहा कांग्रेस पार्टी, युवा एवं महिला कांग्रेस, एनएसयूआई, आरजीएफ
और स्थानीय नेताओं समेत हमारा पूरा संगठन बाढ़ आने के बाद से यहां काम
कर रहा है। यह दुख की घड़ी है और हम यहां खुद रूबाढ़ के कारण हुए
नुकसान कोरू देखने आए हैं। हम दूसरे स्थानों पर भी जाएंगे।’’ सोनिया और
राहुल दोनों दो दिन के लिए राज्य के दौरे पर हैं। इस दौरान उनके साथ पार्टी
के वरिष्ठ नेता थे।
राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने गांव में एक पुनर्वास शिविर
का दौरा किया और राहत सामग्री वितरित की। बाढ़ में अपने मकान गंवा चुके
18 परिवार राजीव गांधी फाउंडेशन द्वारा शिविर में लगाए गए तंबुओं में रह रहे
हैं। कांग्रेस के नेता राहत सामग्री का वितरण करते हुए प्रत्येक तंबू में गए। इस
सामग्री में राशन किट, कपड़े, पुरूषों और महिलाओं के लिए पारंपरिक कश्मीरी
‘फिरन’ एवं दैनिक इस्तेमाल की अन्य वस्तुएं शामिल थीं।