प्रोटीन से भरा है अंकुरित आहार

0 commentsViews:

Ankurit  Food

( फहमिना ) किसी भी अनाज को जब अंकुरित किया जाता है,
तो उसमें मिनरल्स, प्रोटीन, विटामिन और अन्य
पोषक तत्व अच्छी तरह अवशोषित हो जाते हैं।जहां
तक एंटी-आक्सीडेंट की बात है तो स्पाउट्स में
प्रचुर मात्रा में एंटी-आक्सीडेंट पाए जाते हैं।
एंटी-आक्सीडेंट शरीर की प्रक्रिया के सही ढंग से
चलाने में सहायक होते हैं।

शरीर में प्रोटीन की कमी होने पर
थकान महसूस होती हैं। ऐसे में लोग
सप्लीमेंट के तौर पर प्रोटीन लेना शुरू
करते हैं। नतीजा हमारे स्वास्थ्य पर
उनका बुरा प्रभाव पड़ता है। जबकि
प्रोटीन का भी विकल्प मौजूद है।
दरअसल, स्प्राउट्स ऐसी चीज है,
जिसके खाने से कभी परेशानी नहीं
होती। यह प्रचुर मात्रा में पोषक तत्व
व प्रोटीन से भरा है।
नट्स, अनाज और फलियों को
जब पानी में डाला जाता है तो इनमें
मौजूद फाइटेट्स खत्म हो जाते हैं।
जिससे इसे पचाने में बेहद आसानी
होती है। किसी भी अनाज को जब
अंकुरित किया जाता है, तो उसमें
मिनरल्स, प्रोटीन, विटामिन और अन्य
पोषक तत्व अच्छी तरह अवशोषित हो
जाते हैं।जहां तक एंटी-आक्सीडेंट की
बात है तो स्पाउट्स में प्रचुर मात्रा में
एंटी-आक्सीडेंट पाए जाते हैं।
एंटी-आक्सीडेंट शरीर की प्रक्रिया के
सही ढंग से चलाने में सहायक होते
हैं। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हम
मंहगी से महंगी दवाइयां खरीद लेते हैं
पर अपना देसी और सस्ता इलाज भूल
जाते हैं। जबकि स्प्राउट्स सबसे बढि़या
व सस्ता विकल्प हैं अपने आप को
स्वस्थ रखने का चना, मूंग, राजमा
और मटर को रात भर पानी में डाल
कर रखें और अगले दिन इसे सब्जी
के साथ पका कर या फिर अंकुरित
कर खा सकते हैं। स्प्राउट्स बनाने की
विधि कच्चे अनाज को सुपर फूड बना
देती है। उनमें प्रोटीन, फाइबर और
विटामिन की मात्रा काफी बढ़ जाती
है। लंबे समय तक स्वस्थ रहने का
सबसे अचछा तरीका है स्प्राउट्स। यह
हमें कई तरह की बीमारियों और
लाइफस्टाइल संबंधी परेशानी से बचाती
है। स्प्राउट्स को पोषक तत्वों का बंडल
भी कहा जाता है।
अनाज जैसे गेहूं, मक्का रागी, बार्ली
और बाजरे को 12 घंटे पानी में भिगोकर
मिट्टी में डाल दिया जाता हैं। इनके
नन्हें पौधे 10-12 दिनों में तैयार हो
जाते हैं। इनका जूस सेहत के लिए
बेहद फायदेमंद होता है। तिल, मूली
और मेथी के बीज खाने में तो कड़वे
होते हैं, पर इन्हें स्प्राउट्स के साथ
मिलाकर खाया जा सकता हैं। हरे
और काले चने, के स्प्राउट्स के
साथ-साथ ओट्स, बकवीट में उच्च
मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं।
अलफा अलफा को स्प्राउट्स का
राजा कहा जाता है। इसमें मैंग्नीज की
उच्च मात्रा पाई जाती हैं और साथ में
विटामिन ए, बी, सी, ई और के की
प्रचुर मात्रा भी होते हैं। इसमें एमिनो
एसिड और दूध से काफी ज्यादा
कैल्शियम पाया जाता है। स्प्राउट्स में
प्रोटीन, कैल्शियम, पोटाशियम, सोडियम,
आयरन, फास्फोरस, विटामिन ए,
थाइमिन या विटामिन बी-1, बी-2,
बी-3, विटामिन सी मौजूद होते हैं, जो
हमारे शरीर की रोजमर्रा की जरूरतों
को पूरा करते हैं। यह क्लोरोफिल का
अच्छा स्रोत है और इसमें एंटीबैक्टेरियल
व एंटीइनलैमेटरी गुण मौजूद होते हैं।
अगर आप अपना वजन कम करना
चाहते हैं तो स्प्राउट्स से बेहतर कुछ
नहीं। इसे खाने से पेट भरा-भरा सा
रहता है और काफी दूर तक भूख नहीं
लगती। स्प्राउट्स खाना सबसे सुरक्षित
है। इसमें सही मात्रा में मौजूद पोषक
तत्व आप को स्वस्थ रखते हैं।

 


Facebook Comments