साइकिल के आगे हेडलाइट लगानी होगी अनिवार्य

images (3)

नई दिल्ली । अब यातायात नियमों
का उल्लंघन करने पर साइकिल सवारों
पर भी भारी जुर्माना लगाया जाएगा।
अभी तक साइकिल सवार इससे बच
जाते थे। इसके अलावा साइकिल के
आगे-पीछे रिफेलेक्टर लगाने होंगे।
साइकिल के आगे छोटी हेडलाइट
लगानी होगी। केंद्र सरकार के प्रस्तावित
नए मोटर वाहन विधयेक में यातायात
नियम का उल्लघंन करने पर साइकिल
सवारों को भी नियमों का पालन करना
पड़ेगा। मौजूदा कानून में साइकिल
को छूट मिली है। लेकिन नए कानून
में नियमों की अनदेखी करने पर उस
पर 1500 रुपये का भारी भरकम जुर्माना
लगाया जाएगा। मौजूदा मोटर वाहन
अधिनियम 1988 में साइकिल को गैर
मोटरयुव्त वाहन माना गया है, इसलिए
साइकिल सवार पर यातायात नियम
लागू नहीं होते हैं लेकिन प्रस्तावित
व्हीकल रेगुलेशन एंड रोड सेफ्टी ऑफ
इंडिया विधेयक 2014 की सूची संख्या
3 में साइकिल को शामिल गया है।
इसके तहत यातायात नियम का
उल्लघंन करने पर साइकिल सवार
पर अधिकतम 1500 रुपये का जुर्माना
लगाया जाएगा। सरकार ने विधयेक
पर लोगों की राय मांगी है और इसे
आगामी शीतलाकानी संसद सत्र में
पेश किया जा सकता है। सड़क परिवहन
व राजमार्ग मंत्रालय के अधिकारियों
का कहना है कि प्रस्तावित विधेयक
संसद में परित होने के बाद साइकिल
संबंधी नए नियम बनाए जाएंगे।इसके
बाद साइकिल सवार के लिए मापदंड
तय किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि
विदेशों की तर्ज पर भारत में साइकिल
सवार को हेलमेट पहनना अनिवार्य
किया जा सकता है। इसमें गलत दिशा
में साइकिल चलाना, लाल बŸाी पार
करना, साइकिल के कारण यातायात
बाधित होना आदि शामिल है।
इसके अलावा साइकिल के
आगे-पीछे रिफेलेक्टर लगाने होंगे।
साइकिल के आगे छोटी हेडलाइट
लगानी होगी। जोकि साइकिल चलने
पर स्वतः जलेगी। इसके अलावा
साइकिल में रोशनी में चमकने वाली
पट्टियां लगानी होंगी। इसमें साइकिल
सवार को खास प्रकार की जैक पहननी
होगी। इसका उल्लघंन होने पर
साइकिल सवार पर जुर्माना लगाया
जाएगा। देश में प्रति वर्ष साढ़े छह
हजार से अधिक साइकिल सवारों की
सड़क दुर्घटनाओं में मौत हो जाती है।
नये नियमों से यह सड़क दुर्घटनाएं
रूकेंगी।वहीं इंस्टीट्यूट ऑफ रोड
ट्रांसपोर्ट इंजीनियर्स (आईआरटीई) के
रोहित बालूजा ने कहा कि देश में रोड
ट्रैफिक एक्ट नहीं होने के कारण गैर
मोटरयुव्त वाहन यानी साइकिल
यातायात कानून के दायरे से बाहर
थी। नए विधयेक में साइकिल शामिल
करना सही कदम है।