औषधीय गुणों से भरपूर है आवंला

0 commentsViews:

1 July to 15 July5 copy

आंवला औषधी के गुणों से भरपुर
है। जिसमें विटामिट ‘सी‘ का सर्वोŸाम
मात्रा में पाया जाता है। आंवला दाह,
पाण्डु, रव्तपिŸा, अरुचि, त्रिदोष, दमा,
खांसी, श्वास रोग, कब्ज, क्षय, छाती
के रोग, हृदय रोग, मूत्र विकार आदि
अनेक रोगों को खत्म करने के गुण
पाए जाते है। चर्बी घटाकर मोटापा दूर
करता है। बालों को काले, लम्बे व घने
रखता है।
कैसे करें आंवला का प्रयोग
एक साबुत आंवला दाल या शाक
बनते समय शुरू से ही डाल दीजिए
तो यह दाल-शाक बनने के दौरान
पक जाएगा।
आंवले को ठण्डा होने पर मसलकर
इसमें शकर या मिश्री मिलाकर भोजन
त्रिफला की 3 औषधियों में
से आंवला एक है। इसे सूखे
चूर्ण के रूप में अन्य
औषधियों के साथ नुस्खे के
रूप में और अचार, चटनी,
मुरब्बे के रूप में इसका
इस्तेमाल किया जाता है।
इसका च्यवनप्राश,
ब्राह्मरसायन, धात्री लौह और
धात्री रसायन आदि
आयुर्वेदिक योग तैयार करने
में आंवला काम आता है।
के साथ शाक की तरह खाते जाइए।
इस प्रकार आप एक आंवला प्रतिदिन
भोजन के साथ तब तक खाते रहिए
जब तक आपको हरा व ताजा आंवला
मिलता रहे। त्रिफला की 3 औषधियों
में से आंवला एक है। इसे सूखे चूर्ण के
रूप में अन्य औषधियों के साथ नुस्खे
के रूप में और अचार, चटनी, मुरब्बे
के रूप में इसका इस्तेमाल किया जाता
है। इसका च्यवनप्राश, ब्राह्मरसायन,
धात्री लौह और धात्री रसायन आदि
आयुर्वेदिक योग तैयार करने में आंवला
काम आता है। यह अनेक रोगों को
नष्ट करने वाला पोषक, धातुवर्द्धक
और रसायन है।
आयुर्वेद ने इसे ‘अमृतफल‘ कहा
है। विटामिन सी ऐसा नाजुक तत्व
होता है जो गर्मी के प्रभाव से नष्ट हो
जाता है, कि आंवला में विद्यमान
विटामिन सी किसी भी सूरत में नष्ट
नहीं होता।
यह सदाबहार फल सभी ऋतुओं
में चटनी, मुरब्बा, अचार, चूर्ण, अवलेह
आदि के रूप में गुणकारी बना रह
सकता है।
आवंला के लाभ अनेक: नेत्र
ज्योति बढ़ना, बाल मजबूत होना, सिर
दर्द दूर होना, चक्कर, नकसीर,
दांत-मसूड़ों की खराबी दूर होना, कब्ज,
रव्त विकार, चर्म रोग, पाचन शक्ति में
खराबी, रव्ताल्पता, बल-वीर्य में कमी,
बेवक्त बुढ़ापे के लक्षण प्रकट होना,
फेफड़ों की खराबी, श्वास रोग, क्षय,
दौर्बल्य, पेट कृमि, यकृत की कमजोरी
व खराबी, स्वप्नदोष, धातु विकार, हृदय
विकार, उदर विकार आदि अनेक व्याध्
िायों के घटाटोप को दूर करने के लिए
अकेला आंवला ही काफी है। नियमपूर्वक
1 या 2 आंवले रोज खाना शर्त है।


Facebook Comments