पैग़ंबर मोहम्मद टिप्पणी मामला: रांची में दो की मौत, यूपी में 227 गिरफ़्तार

पैग़ंबर मोहम्मद टिप्पणी मामला: रांची में दो की मौत, यूपी में 227 गिरफ़्तार
पैग़ंबर मोहम्मद के बारे में बीजेपी के पूर्व प्रवक्ताओं की टिप्पणी के विरोध में शुक्रवार को झारखंड की राजधानी रांची में हुई हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई है.समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार रांची स्थित रिम्स अस्पताल के अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि की है कि अस्पताल लाए गए घायल लोगों में से दो लोगों की मृत्यु हो गई है.
शुक्रवार को जुमे की नमाज़ के बाद देश के कई शहरों में विरोध प्रदर्शन हुए थे और कई जगह हिंसा भी हुई.
रांची में भी पत्थरबाज़ी की घटनाएँ हुईं और कई वाहनों को आग लगाने और तोड़-फोड़ के वाक़ये हुए. इस दौरान कई लोगों के घायल होने की ख़बर आई.
शुक्रवार को देश के अलग-अलग हिस्सों में हुए विरोध प्रदर्शन पिछले महीने बीजेपी की पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा की एक विवादित टिप्पणी को लेकर हुए. टीवी चैनल टाइम्स नाउ के एक कार्यक्रम में चर्चा के दौरान नूपुर शर्मा पर पैग़ंबर मोहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप लगे.

इस मामले को लेकर इस सप्ताह अरब के कई देशों ने सख़्त प्रतिक्रिया करते हुए कड़ा एतराज़ दर्ज किया. कई देशों में वहाँ नियुक्त भारतीय राजदूतों को भी तलब किया गया. इन प्रतिक्रियाओं के बाद बीजेपी ने नूपुर शर्मा को पार्टी से निलंबित कर दिया और बीजेपी की दिल्ली मीडिया सेल के प्रमुख नवीन जिंदल को निष्कासित कर दिया.

लेकिन, इसके बाद भी विरोध के स्वर बंद नहीं हुए हैं और मुस्लिम समुदाय के कई नेता और संगठन नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल को गिरफ़्तार किए जाने की मांग कर रहे हैं.

बुधवार को दिल्ली पुलिस ने इस मामले में दो एफ़आईआर दर्ज की. इनमें एक एफ़आईआर नूपुर शर्मा के ख़िलाफ़ थी. दूसरी एफ़आईआर 31 अन्य लोगों के विरुद्ध थी जिनमें एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी और विवादों में रहने महंत यति नरसिंहानंद के नाम शामिल हैं.